Rahul Gandhi on Kashmir Situation
  • राहुल के पिछले 2 वीडियो को 15 करोड़ बार देखा जा चकुा है
  • राहुल के ट्विटर हैंडल पर औसत लाइक्स में भी भारी उछाल
  • राहुल के वीडियो तथ्य से परे, सिर्फ मनोरंजन के लिए- बीजेपी

राहुल गांधी ने गुरुवार को लद्दाख सीमा पर यथास्थिति बहाल करने में विफल रहने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए एक और वीडियो पोस्ट किया. केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कांग्रेस के नेता पर प्रतिकूल परिस्थितियों में राजनीति करने का आरोप लगाती रही है, लेकिन मोदी सरकार पर झूठ बोलने वाले उनके वीडियो इंटरनेट पर बड़े पैमाने पर लोगों को लुभा रहे हैं.

लद्दाख में विवादित फिंगर प्वाइंटस और हॉट स्प्रिंग्स क्षेत्रों में यथास्थिति बहाल करने के लिए चीन की ओर से कोई संकेत नहीं मिलने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को एक और वीडियो जारी कर दिया. इसमें लद्दाख में चीनी आक्रामकता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार की नीति पर निशाना साधा गया है.

अब तक 3 वीडियो जारी

वायनाड सांसद राहुल गांधी की ओर से चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर एक हफ्ते के भीतर यह तीसरा वीडियो जारी किया गया. इस संबंध में बीजेपी की बेचैनी का सबसे बड़ा कारण यह है कि ऑनलाइन पर जबर्दस्त प्रतिक्रिया मिल रही है.

कांग्रेस की सोशल मीडिया सेल के अनुसार, चीन के साथ बने गतिरोध को लेकर राहुल गांधी की ओर से 17 जुलाई और 20 जुलाई को जारी वीडियो को अब तक 15 करोड़ बार देखा जा चुका है. दोनों वीडियो को ट्विटर पर 4 करोड़, फेसबुक पर 6 करोड़, यूट्यूब पर 2 करोड़ बार देखा जा चुका है जबकि वाट्सऐप पर 2 करोड़ यूजर्स ने इसे शेयर भी किया है.

राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल पर औसत लाइक्स में भी भारी उछाल आया है, कोरोना महामारी के शुरुआती ​​महीनों में जहां उन्हें 20 हजार लाइक्स मिलते थे वो अब बढ़कर 60 हजार तक पहुंच गया है.

‘राहुल जो बोल रहे वो राष्ट्र की आवाज’

AICC सोशल मीडिया सेल के प्रमुख रोहन गुप्ता राहुल गांधी की ऑनलाइन लोकप्रियता में वृद्धि से आश्चर्यचकित नहीं हैं. उन्होंने इंडिया टुडे टीवी से कहा, ‘जवाब बहुत स्पष्ट है कि राहुल गांधी आज जो बोल रहे हैं वह राष्ट्र की आवाज है, पूरा देश चकित है कि प्रधानमंत्री उनसे झूठ कैसे बोल सकते हैं, हर कोई जानता है कि चीनी हमारे क्षेत्र में प्रवेश कर चुके हैं और हमारे सैनिकों को मार दिया, फिर भी, प्रधानमंत्री उनसे झूठ बोल रहे हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘लोग भ्रमित हैं कि प्रधानमंत्री ऐसा क्यों कर रहे हैं और राहुल गांधी ने उस सवाल का जवाब दिया क्योंकि पीएम अपना 56 इंच वाली छवि बचाना चाहते थे, लेकिन यह देश के हित में नहीं है, हर रोज की रिपोर्ट यह पुष्टि कर रही है कि चीनियों ने हमारे क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है, लेकिन पीएम और उनके लोग इस बात से इनकार कर रहे हैं क्योंकि भारत की तुलना में उनके लिए छवि अधिक महत्वपूर्ण है और लोग इसे पसंद नहीं कर रहे हैं.’

कोरोना महामारी के दौरान, कांग्रेस के हाल के अभियानों में भी भारी प्रतिक्रिया मिली. राहुल गांधी का हाल ही में प्रवासी श्रमिकों के साथ बातचीत का वीडियो वायरल हुआ. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर इसे 7.5 करोड़ बार देखा गया.
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को देश के हितों की कीमत पर अपनी छवि बनाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है.

राहुल गांधी का प्रधानमंत्री पर यह हमला कांग्रेस और बीजेपी के बीच नए दौर के जंग की शुरुआत है. कांग्रेस पार्टी की संचार रणनीति टीम के प्रमुख सदस्य और राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने इंडिया टुडे से कहा कि इस तथ्य को छिपाने की कोशिश विफल रही कि चीनी ने लद्दाख में हमारी जमीन ले ली है, जिससे बीजेपी के राष्ट्रवाद का मुद्दा उजागर हो गया है.

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और उनके मंत्रियों को यह समझने की जरूरत है कि अति-राष्ट्रवाद हमारी क्षेत्रीय अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा का वास्तविक बचाव नहीं कर सकता है और यही राहुल गांधी पीएम से करने का आग्रह करते रहे हैं, कृपया याद रखें जब पुलवामा हुआ तो प्रधानमंत्री जिम कॉर्बेट में शूटिंग में व्यस्त थे और जब डोकलाम हुआ तो पीएम ने चीनी को डोकलाम पठार के बड़े हिस्से पर कब्जा करने की इजाजत दे दी, वही अब हो रहा है.’

वीडियो सिर्फ मनोरंजन के लिए- बीजेपी

हालांकि बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय इससे इतर सोचते हैं. उन्होंने कहा, ‘अगर राहुल गांधी और उनकी टीम का मानना ​​है कि हर दिन एक वीडियो सोशल मीडिया पर डालकर चुनाव जीता जा सकता है, तो भगवान पार्टी की मदद करें, उनके वीडियो दोहराए जाते हैं अच्छे तथ्यों से परे होते हैं और सिर्फ मनोरंजन के लिए होते हैं.

बीजेपी की आलोचना के बावजूद, कांग्रेस पीएम नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ रेडियो प्रसारण का मुकाबला करने के लिए राहुल गांधी के पॉडकास्ट को शुरू करने की दिशा में आगे बढ़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *