CAA NRC Protest

अलीगढ़. में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारन से स्थगित हुए एंटी सीएए और एनआरसी प्रोटेस्ट (CAA and NRC Protest) को फिर से शुरू करने की कवायद तेज हो गई है। इसी क्रम में सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील महमूद प्राचा (Mehmood Pracha) शनिवार को अलीगढ़ पहुंचे। उन्होंने टीवी चैनल न्यूज18 से बातचीत में बताया कि सीएए (Citizenship (Amendment) Act, 2019) और एनआरसी (National Register of Citizens) के खिलाफ आंदोलन की धार फिर से तेज करने को लेकर तैयारी चल रही है। प्राचा ने कहा कि भारत सरकार की अनलॉक स्टेज काफी एडवांस स्टेज पर पहुंच गई है। हर प्रकार की गतिविधि को सरकार अनुमति दे रही है। ऐसे में 15 अगस्त से फिर से प्रोटेस्ट शुरू कर सकते हैं।

महमूद प्राचा ने CAA और NRC के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अलीगढ़ से निमंत्रण और डिमांड आ रही थी कि वे यहां आएं, क्योंकि जो संविधान बचाने का आंदोलन चल रहा था उसे कोरोना वायरस (Coronavirus) और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते रोक दिया गया था। अब कोरोना वायरस की अनलॉक प्रक्रिया बहुत एडवांस स्टेज पर पहुंच चुकी है। भारत सरकार ने भी अनलॉक गाइडलाइन जारी कर दी हैं। पूरे देश में अनलॉक गाइडलाइन जारी हो रही है। इसके तहत हर प्रकार की गतिविधि को शुरू करने के लिए सरकार खुद बढ़ावा दे रही है। लिहाजा आंदोलन फिर से शुरू किया जा सकता है।

दूसरी एक अहम वजह यह भी है कि मुसलमानों के त्यौहार मोहर्रम के लिए मुस्लिम समुदाय में धार्मिक गतिविधियों को किस प्रकार से कानूनी दायरे में रहकर पूरा किया जा सके इसके लिए सभी लोगों को बताया जाएगा। अगर उन्हें कोई गलत तरह से प्रताड़ित करे तो उसे कैसे बचा जाए इसके लिए भी उन्हें बताया जाएगा।

परचा ने कहा कि आप सब लोगों को पता है सुप्रीम कोर्ट ने जगन्नाथपुरी रथयात्रा निकालने की अनुमति दी थी। सुप्रीम कोर्ट की जो गाइडलाइन जगन्नाथपुरी रथयात्रा को दी गयी थी वह बाकी धर्म समुदाय की गतिविधियों के लिए लागू होती है और 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के आसपास से दुबारा संविधान बचाओ आंदोलन शुरू होगा इंशाल्लाह।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *