Covid Hospital

नई दिल्ली, 6 मई । कोरोना महामारी से जूझ रही दिल्ली को पहली बार आवश्यकता के अनुरूप ऑक्सीजन मुहैया हुई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि बुधवार को केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली को 730 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मुहैया कराई गई। गौरतलब है कि ऑक्सीजन के लिए दिल्ली का तय कोटा 700 मीट्रिक टन है। इससे पहले दिल्ली को 300 से लेकर 450 मीट्रिक टन तक ऑक्सीजन प्रतिदिन मिल रही थी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यदि हमें इतनी ऑक्सीजन प्रतिदिन मिलती रहे तो मैं इतना विश्वास दिला सकता हूं कि ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी कोरोना रोगी की जान नहीं जाएगी। इसके साथ ही यदि प्रतिदिन 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति दिल्ली को होती रहे तो दिल्ली में 9000 से अधिक ऑक्सीजन नए बेड बढ़ाए जा सकते हैं।

ऑक्सीजन की बढ़ी हुई आपूर्ति के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अदालतों का शुक्रिया अदा किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार का भी धन्यवाद किया। ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित किए जाने पर मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को भी एक पत्र लिखकर धन्यवाद दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा की ऑक्सीजन के इस बढ़ी हुई आपूर्ति से अब कई जिंदगियां बचाई जा सकेंगी।

दिल्ली सरकार के मुताबिक इससे पहले ऑक्सीजन की कमी के कारण प्रतिदिन कई अस्पतालों में कोरोना रोगियों की जान खतरे में पड़ रही थी। विभिन्न अस्पताल ऑक्सीजन की किल्लत का सामना कर रहे थे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी के कारण दिल्ली में कई अस्पतालों को अपने बेड कम करने पड़े थे। 300 अस्पताल वाले एक प्राइवेट अस्पताल को ऑक्सीजन की कमी के कारण अपने 200 बेड घटाने पड़े थे। सरकारी अस्पतालों में भी यही हालत थी। यही वजह थी कि कई लोगों को बीमार होने के बावजूद अस्पतालों में बेड नहीं मिल सके।

अब मेरा सभी अस्पतालों से निवेदन है कि आप पहले की तरह बेड बढ़ा लें। अस्पतालों का कहना है कि यदि सुचारू रूप से पर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सके तो हम अपने मौजूदा अस्पतालों में हजार से अधिक ऑक्सीजन बेड बढ़ा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि अब यह सभी अस्पताल अपने बंद किए गए बेड को दोबारा से शुरू करेंगे बल्कि और नए बेड भी रोगियों के लिए बढ़ाएंगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को प्रतिदिन इसी तरह कम से कम 700 मीटर 1 टन ऑक्सीजन की सप्लाई होनी चाहिए। यह सप्लाई नियमित रहनी चाहिए। यदि ऐसा होता है तो राधा स्वामी सत्संग में हम 5000 बेड तैयार कर सकते हैं। बुराड़ी में हमने दो जगह ढाई हजार बेड तैयार किए हुए हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में हजार और यमुना स्पोर्ट्स कंपलेक्स में भी हजार बेड तैयार किए हुए हैं। यदि हमें समुचित ऑक्सीजन मिल जाए तो हम तो दिल्ली में 9000 से अधिक नए ऑक्सीजन बेड तैयार कर सकेंगे।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने एक बार फिर से वैक्सीनेशन पर जोर दिया है। सीएम ने कहा कि कोरोना को रोकने के लिए हमें वैक्सीनेशन करना ही पड़ेगा। युवाओं के अंदर वैक्सीनेशन का बहुत उत्साह है। 18 साल से ऊपर के सभी व्यक्तियों से मेरा अनुरोध है कि वह वैक्सीनेशन जरूर करवाएं।

दिल्ली में अभी तक कोरोना वैक्सीन की कुल 35 लाख 74 हजार डोज दी गई हैं। इनमें से पहली डोज 28 लाख लोगों को दी गई है। वहीं 7.76 लाख लोगों ने दोनों डोज ली हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी वैक्सीन की सप्लाई कम हो रही है, यदि हमें पूरी वैक्सीन मिल जाए तो हम 3 महीने के अंदर पूरी दिल्ली को का वैक्सीनेशन कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *