indian-army

नई दिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर के खिलाफ किस तरह से जल, थल और मार्ग से लड़ाई चल रही है, इसके बारे में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक ब्लॉग लिखकर जानकारी दी है। जिस पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी तीनों सेनाओं की तारीफ करते हुए कहा है कि जल, थल और नभ-हमारी सशस्त्र सेनाओं ने कोविड 19 के खिलाफ कोई कसर नहीं छोड़ी है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को फेसबुक पर लिखे ब्लॉग में कोविड 19 प्रबंधन में जुटी सेनाओं के कार्यों को गिनाया है। उन्होंने कहा है कि बाधाओं के खिलाफ लड़ने के लिए एक अदम्य भावना की अभिव्यक्ति की जरूरत है। इस समय समूचा देश यही कर रहा है। जल, थल और नभ मार्ग से सेनाएं राहत पहुंचाने में जुटी हैं।

डीआरडीओ हास्पिटल्स

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया है कि कैसे डीआरडीओ ने देश के कई हिस्सों में कोविड अस्पताल खोले हैं। डीआरडीओ ने नई दिल्ली और लखनऊ में 500-500 बेड का कोविड हास्पिटल खोला है। 900 बेड का अस्पताल अहमदाबाद में संचालित किया है। इसके अलावा ईएसआईसी हास्पिटल पटना के पांच सौ बेड को कोविड अस्पताल में बदला गया। वाराणसी और मुजफ्फरपुर में कोविड अस्पताल बनाने का काम चल रहा है।

जनता के लिए खुले आर्मी हास्पिटल्स

आर्मी ने संकट की इस घड़ी में जनता के लिए हास्पिटल्स के द्वार खोले हैं। सेना ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ और प्रयागराज में सौ-सौ बेड का कोविड अस्पताल उपलब्ध कराया है। मध्य प्रदेश में 40 बेड की आइसोलेशन सुविधा दी है है। भोपाल और जबलपुर में सौ-सौ बेड और ग्वालियर में 40 बेड की सुविधा है। झारखंड के नामकुम में 50 बेड का अस्पताल शुरू किया है। महाराष्ट्र के पुणे में 60 आईसीयू बेड और राजस्थान के बारमेर में सौ बेड की सुविधा प्रदान हुई है। लॉजिस्टिक्स सपोर्ट में भी सेनाओं ने अहम भूमिका निभाई है। इंडियन एयरफोर्स और इंडियन नेवी लॉजिस्टिक्स सपोर्ट में लगी है। इंडियन एयरफोर्स ने 1142 मीट्रिक टन क्षमता के 61 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर विदेशों से एयरलिफ्ट किया।

ऑक्सीजन प्लांट

पीएम केयर फंड के तहत रक्षा मंत्रालय के डीआरडीओ ने 500 मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट्स स्थापित करने की व्यवस्था की। इंडियन इंस्टीट्यटू ऑफ पेट्रोलियम, देहरादून के साथ 120 प्लांट बनाने की तैयारी है। एम्स और आरएमएल हास्पिटल में दो ऐसे प्लांट चुके हैं।

पीएसयू भी आगे आए

कोविड के खिलाफ लड़ाई में रक्षा मंत्रालय के पीएसयू भी आगे आए हैं। एचएएल ने आईसीयू, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर से लैस 180 बेड का कोविड केयर सेटर बेंगलुरु में स्थापित किया है। डीपीएसयू ने 250 बेड का अस्पताल बेंगुलरु में बनाया है। हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड(एचएएल) 250 बेड का अस्पताल लखनऊ में खोलेगा। बेंगलुरु और लखनऊ में अधिक वेंटिलेटर और ऑक्सीजन प्वाइंट्स की सुविधा देने की तैयारी एचएएल कर रहा है। इस वक्त देश भर में 39 कैंटोनमेंट बोर्ड के माध्यम से 40 जनरल हास्पिटल के 1,240 बेड का संचालन हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *